हाले दिल किसको सुनाऊँ कि कोई बात बने।

हाले दिल किसको सुनाऊँ कि कोई बात बने। मैं उन्हें कैसे मनाऊँ कि कोई बात बने।। कोई सुनता नहीं जमाने में, खो गए हम तो खोज पाने में, एक बहरों के शहर में कैसे अपनी आवाज सुनाऊँ कि कोई बात बने। हाले दिल किसको सुनाऊँ कि कोई बात बने। किसकी हिम्मत को बढ़ाऊँ कि कोई […]

एक दफा

तुम मेरे मरने पर मेरी क़ब्र पर एक दफा ज़रूर आना। तुम मेरी क़ब्र को अपने इत्तर की ख़ुशबू से एक दफा जरूर महकाना।।

अश्क़ तत्काल यह बह जाए!!

हैं रिश्ता बड़ा अनमोल हम दोनों के दरमियाँ, वहाँ मुश्किल में तू, और बेबस मैं यहाँ। माँगू दुआ उस खुदा से, जो पूरी आज हो जाए तेरी तकलीफ़, मेरी आँखों से बनकर अश्क़ तत्काल यह बह जाए!!

ग़मों की रील नई

कैसे कह दूँ इस ज़माने से कि मुझे कोई तकलीफ़ नही। कैसे कह दू हर वक़्त दिमाग में चल नही रही, ग़मों की रील नई ।।

Ishq

सुना है इश्क़ में महबूब की निगाहो में जन्नत दिखायी देती है पर मेरे महबूब की निगाहो में तो मेरी तस्वीर दिखाई देती है!!!

वह मिलन की रात बाकी रह गई।

वह मिलन की रात बाकी रह गई। वह अधूरी बात बाकी रह गई। घिर घटा काली बरस पाई न जो, वह विफल बरसात बाकी रह गई। वह अधूरी बात बाकी रह गई। बाग के बरगद गवाही तुम रहो। और पनघट गंधवाही तुम रहो। टूटता है स्वप्न कोई किस तरह। नींद खोई रात बाकी रह गई। […]

जाओ हे बीते वर्ष आह तुम जाओ।

जाओ हे बीते वर्ष आह तुम जाओ। मेरी स्मृति के सागर में खो जाओ। तुम दिये बहुत ही आस, कि जगी पिपासा। तुम दिये बहुत विश्वास, कि बढ़ी दिलासा। तुम हो अरूप, पर प्राणों में बस जाओ।। जाओ हे बीते वर्ष आह तुम जाओ। मेरी स्मृति के सागर में खो जाओ। तुम दिये बहुत ही […]